info@gurukripaastro.com   +91 788 854 4659

Build Realtionship with Like-Minded People And Make Your Dreams.

Welcome To Guru Kripa Health Zone.

Content will be added soon...

Read More

Latest News

जब इंटरनेट का इस्तेमाल ज्यादा प्रचलित नही था। तो सीधे तौर पर शाॅप टू शाॅप यानि की सामान लेने के लिए एक दुकान से दुसरी दुकान पर घुमना पड़ता था। जिसके लिए ग्राहको को दुकानदार द्वारा तय की गई वस्तु का मुल्य ही चुकाना पडता था। जिस पर दुकानदार अपनी दुकान का किराया, अपने सेल्समेन की तनख्वाह आदि का भार भी ग्राहको पर पडता था। लेकिन इतना सब के बावजूद भी ग्राहक ने जो वस्तु खरीदने के लिए उने का दुना रकम चुकाता है, उसके बावजूद भी ग्राहको को उसके सामान की गुंणवत्ता का कोई गारंटी नही होती है।
इसके अलावा एक तथ्य और सामने आया है।
वो ये है कि जब कंपनी या फैक्ट्री से माल ग्राहको तक प्रचार प्रसार से होकर ट्रांसपोर्ट से होकर विक्रेता के माध्यम से ग्राहको तक पहुंचता है। निकलता हैं। जिसमे कि बिचैलियो की भी कमीशन ग्राहको को चुकानी पडती है। इसके अतिरिक्त कंपनी द्वारा किए गए प्रोडक्ट के प्रचार प्रसार का खर्च भी ग्राहको की जेब पर पडता है।

Top Achievers

coming soon...







Rewards Achievers

coming soon...







Rewards And Awards